राहुल की दास्तान: सेहत अच्छी होने से मिला जीवन-साथी

Rahul Ki Dastan

मेरा नाम राहुल है। मैं बचपन से ही दुबलेपन से ग्रस्त रहा हूँ । मेरी उम्र के हिसाब से मेरा वजन बहुत ही कम था। मैं बैलेंस्ड डाइट ही लेता था (चावल, दाल, रोटी, सब्जियाँ, फल, मसाले और कभी-कभार नॉन-वेज), मैं नियमित एक्सर्साइज़ करता था (मैं काम से लौटने के बाद जिम जाता था) और मेरी हैल्थ भी अच्छी थी, समस्या बस इतनी थी कि २८ की उम्र में भी मेरा वजन ५० किलो ही था। यही कारण था कि मैं नौकरी में ज़्यादा दिन टिक नहीं पाता था। मैं लाइफ इन्शुरेंस सेल्स में काम करता था और मैं दुबला होने की वजह से कस्टमर इतनी जल्दी भाव भी नहीं देते थे.

वजन बढ़ाने के लिए में दिन में ४ बार खाने लगा और घंटो तक जिम करता रहा। लेकिन घर चलाने के लिए नौकरी भी तो करनी ही थी। मेरे पैसे खत्म होने लगे थे और मैं नौकरी ढूंढ रहा था लेकिन कोई मुझे नौकरी देना नहीं चाहता था। में कितने भी अच्छे कपडे पेहेनता था लेकिन सभी कपडे ढीले-ढीले ही होते थे। इस वजह से लोगो का मेरी तरफ देखने का नजरिया भी अलग हो जाता था।मैंने वजन बढ़ाने के लिए स्पेशल सप्लिमेंट खरीदे लेकिन उनसे कोई फायदा नहीं हुआ। मैं दिन भर में बस १००० से १५०० कैलोरी ही लेता था लेकिन दुबलापन दूर होने के बजाय मेरी चिड़चिड़ाहट और झुंझलाहट बढ़ गई थी और मै खुद को बहुत ही कमजोर महसूस करता था।

Ashwa Shakti Powder

एक बार मेरे एक दोस्त ने मुझे “अश्वशक्ति पाउडर” के बारे मै बताया की ये एक आयुर्वेदिक पाउडर है जिसे अलग –अलग जड़ी बूटियों से बनाया गया है, जैसे की शुद्ध कौचा, मुसली, अश्वगंधा, शतावरी, जैसी शक्तिवर्धक औषधिया और इसका कोई साईड-इफ़ेक्ट भी नहीं है। तो जब उसने मुझे ये बात बताई तब मुझे उसकी बात पर यकीन नही हुआ और मैंने सोचा की क्यों न इस अश्वशक्ति पाउडर के बारे मै इंटरनेट पर रिसर्च किया जाए ,तो सच मै मैंने ये जाना की अश्वशक्ति पाउडर नाम का आयुर्वेदिक पाउडर भी है और उसमे अलग-अलग तरह की जड़ी बूटिया भी उसमे मिश्रित है।

Rahul

मैंने उन सभी जड़ी बूटियों के बारे में रिसर्च किया और तब मैंने जाना की ये सचमुच शरीर की सात धातुओं को पोषण देने वाला और असरदायक जड़ी बूटियाँ जैसे कि शुद्ध कौचा, मुसली, अश्वगंधा, शतावरी, जैसी शक्तिवर्धक औषधियों का मिश्रण है जो कि पूरी तरह से शुद्ध आयुर्वेदिक है, जो की हमारे शरीर को निरंतर ह्रुस्ट पुष्ट रखता है जिससे हमारा शारीरिक व्यक्तित्व उभरता है, और इसलिए मैंने डिसाइड किया कि मैं “अश्वशक्ति पाउडर” का एक ट्रायल पैकेज ऑर्डर करूंगा।

शुरुआत में तो मुझे इस पाउडर से ज़्यादा उम्मीद नहीं थी क्योंकि मैं पूरी ज़िंदगी असफल ही होता आया था। तो बस उसी दिन से मैंने ये “अश्वशक्ति पाउडर” लेना शुरू किया और ३ महीने तक जारी रखा ३ महीने बाद मुझे यकीन नहीं हो रहा था की मेरा वजन सच मे बढ़ गया है। जब मैंने वेट-मशीन पर चढ़के मेरा वजन चेक किया तो पहले से मेरा वजन १० किलो ज्यादा बढ गया था।सच में आज के ज़माने मै अश्वशक्ति पाउडर वजन बढ़ाने के लिए किसी चमत्कार से कम नहीं है। ये हमें रोज लेना होता है और बस इससे ही हमारा वजन बढ़ना शुरू हो जाता है। न कोई मुसीबत न कोई बंधन! मैंने अपने फेव्रेट खाने खाने भी शुरू कर दिए।मुझे एक नई नौकरी भी मिल गई जहां मेरे एक्सपिरियन्स और मेरी काबिलियत के हिसाब से सैलरी भी ठीक मिलती थी। मैंने अश्वशक्ति पाउडर लेना चालू रखा है।

अब मेरा वजन मेरी आवश्यकता के हिसाब से बढ़ गया है। मेरी हाइट के हिसाब से ये वजन ठीक है लेकिन मैं और मोटा होना चाहता हूँ ताकि हट्टा कट्टा दिख सकूँ।

और हाँ, वजन बढ़ाने के कारण ही मुझे मेरा जीवन साथी भी मिला। एक बार जब मैं रोज की तरह “अश्वशक्ति पाउडर” ले रहा था तो दूसरे डिपार्टमेन्ट में काम करने वाली एक लड़की मेरे पास आई। वो काफी सुंदर लड़की थी। उसने मुझे बताया कि उसने इसी पाउडर को लेकर ही उसने दुबलेपन से मुक्त होकर अच्छी सेहत पाई थी। उसको देख कर इस पर भरोसा करना तो मुश्किल था कि पहले उसका वजन बहोत कम हुआ होगा।

Ashwa Shakti Powder

हम काफी बातें करने लगे थे और हमें एक दूसरे में काफी इंटरेस्ट आने लगा था। हमारी सोच एक जैसी थी और हमें एक जैसी चीजें ही पसंद थी। हम दोनो ही कॉमेडी फिल्में देखना पसंद करते थे, जासूसी नॉवेल्स पढ़ने के शौकीन थे और पुराने गानों में रुचि रखते थे। एक दिन मैंने हिम्मत करके उसे डेट पर आने के लिए बुला ही लिया।

और अब प्रिया और मैं एक दूसरे से बहुत प्यार करते हैं और हमारी शादी होने वाली है। हमारी शादी की तारीख अगले साल के लिए फिक्स भी हो गई है।

मैंने मेरा वजन बढ़ाना जारी रखा है। मैं हफ्ते में एक दिन “अश्वशक्ति पाउडर”लेता हूँ ताकि मै हमेशा ह्रुस्ट पुष्ट रहू। उम्मीद है, अब कमजोर सेहत कभी मेरी ओर मुंह नहीं करेगी

इस पाउडर को लेने के लिए यहाँ ऑनलाइन आवेदन करे |

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to Top